माँ भारती

Maabharati: A Hindi knowledge Sharing website, Legends of Mahatmas, Technologies, Health, Today History, Successful People's stories and other information.

Breaking

30 December 2018

भारत के 29 राज्यों के नाम कैसे और क्यों रखे गये ? - The 29 indian state names history in hindi


भारत विभिन्न भाषाओं और समुदायों का देश है। यही नहीं यहाँ पग पग में बोली बदलती है, पग पग में संस्कृति नए आवरण में नजर आती है। यहाँ परम्परा, धर्म, आधुनिकता, मान्यताएं सबकी अपनी अपनी खास विशेषताएं हैं। यही कारण है कि भारत को विविधता में एकता वाला देश कहा जाता है। लाखों-करोड़ों लोग भारत के 29 राज्यों में एक साथ रहते हैं जहाँ भाषा, इतिहास, शासक आदि विभिन्न राज्यों को नाम देने में महति भूमिका अदा करती है। आइये जानते इस विशाल देश का निर्माण करने राज्यों का नाम कैसे और क्यों रखा -


1. जम्मू और कश्मीर का नाम कैसे रखा गया? ( Jammu and Kashmir Names history in hindi )

इस राज्य का जैसा नाम है उतना ही खुबसूरत इस घाटी का नजारा है. प्राचीन समय में जम्मू कश्मीर को ऋषि कश्यप कि घाटी के नाम से जाना जाता था और इसी नाम से कश्मीर सब्द बना. कश्मीर संस्कृत भाषा का शब्द है जिसमे "क" का मतलब पानी है और 'शिमीरी' का मतलब सुख जाना है. अर्थात जिस घाटी में पानी सुख जाता है वह कश्मीर है.इसके अलावा जम्मू शब्द यहाँ के प्राचीन समय के शासक राजा जम्बू लोचन से पड़ा है.


2. हिमाचल प्रदेश का नाम कैसे रखा गया ? ( Himachal Pradesh Names history in hindi )

यह शब्द भी संस्कृत भाषा से लिया गया जिसका अर्थ " हिम का आँचल " होता है. संस्कृत में बर्फ को हिम व पहाड़ को आँचल कहा जाता है. अर्थात यह पूरा राज्य बर्फीले पहाड़ो से ढका हुआ है.

3. पंजाब का नाम कैसे रखा गया ? ( Punjab Names history in hindi )

पंजाब शब्द इंडो-ईरानी शब्द है. और यह दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है. पंज+आब यहाँ पंज का अर्थ पाच और आब का अर्थ पानी है. आप सभी जानते ही है इस राज्य में पांच नदिया है. बस इसलिए पंजाब नाम पड़ गया.

4. हरियाणा का नाम कैसे रखा गया ? ( Haryana Names history in hindi )

यह हरियाणा भी दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है, हरी+याना यहाँ हरी का मतलब विष्णु या विष्णु भगवान् के अवतार भगवान श्रीकृष्ण, ओर आना का मतलब आना ही होता है. अर्थात प्राचीन समय में यहाँ पर भगवान श्रीकृष्ण आये थे और उन्ही के समान में इस क्षेत्र का नाम हरियाणा रखा गया था.

5. राजस्थान का नाम कैसे रखा गया ? ( Rajasthan Names history in hindi )

यह भी संस्कृत भाषा शब्द है जो राजाओ के स्थान से उत्पन्न हुआ है. प्राचीन समय में इस क्षेत्र को राजपुताना के नाम से जाना जाता था अर्थात राजपूतो का शहर. कर्नल जेम्स टॉड ने इसे रायथान लिखा था जिसके बाद इसका नाम राजस्थान हो गया.

6. उत्तर प्रदेश का नाम कैसे रखा गया ? ( Uttar Pradesh Names history in hindi )

इस राज्य का नाम भी दो शब्दों से मिलकर बना है जिसे आप स्पष्ट देख सकते है बहरहाल उत्तर का अर्थ उत्तरी दिशा और प्रदेश यानि राज्य होता है. ऐसा इसलिए क्योंकि यह राज्य भारत के उत्तर दिशा में स्थित है.

7. उत्तराखंड का नाम कैसे रखा गया ? ( Uttarakhand Names history in hindi )

सन 2000 में यह राज्य उत्तर प्रदेश से अलग हुआ था और इसका नाम उत्तरांचल रखा गया था उत्तरांचल का अर्थ उत्तरी पहाड़ होता है. लेकिन बाद में इस राज्य का नाम उत्तरांचल से बदलकर उत्तराखंड कर दिया गया. और उत्तराखंड का अर्थ उत्तरी भूमि होता है.

8. बिहार का नाम कैसे रखा गया ? ( Bihar Names history in hindi )

यह शब्द विहार से बना है. विहार का अर्थ आवास या डेरा डालना होता है. समय के साथ विहार नाम में परिवर्तन आया और यह बिहार बन गया. प्राचीन समय में यह बौद्ध मठधारियों के विहार का स्थान माना जाता था.

9. झारखंड का नाम कैसे रखा गया ? ( Jharkhand Names history in hindi )

झारखण्ड संस्कृत भाषा के दो शब्दों 'झर' और 'खण्ड' से बना हुआ है. झर का अर्थ जंगल और खण्ड का मतलब भूमि होता है. यानि "जंगल की भूमि" . इस राज्य को 'वनांचल' के नाम से भी जाना जाता है.

10 पश्चिम बंगाल का नाम कैसे रखा गया ? ( West Bengal Names history in hindi )

बंगाल शब्द संस्कृत भाषा का शब्द है और यह वांग से लिया गया है और इसको अलग अलग भाषाओ के लोग अलग अलग नाम से पुकारते थे पारसी भाषी लोग इसे बांग्लाह के नाम से पुकारते थे , हिंदी भाषी लोग इसे बंगाल कहते थे और बंगाली भाषी लोग इसको बांग्ला कहते थे. और यही से बंगाल शब्द निकलकर आया. यहाँ पश्चिम शब्द पश्चिम दिशा को बताता है. दरअसल अंग्रेजो ने 1905 में इसका विभाजन कर दिया और पूर्वी बंगाल व पश्चिम बंगाल बने. 1947 में आजादी के बाद पश्चिम बंगाल भारत से जुड़ गया और पूर्वी बंगाल पाकिस्तान से जुड़ा और इसका नाम पश्चमी पाकिस्थान रखा गया था. 1972 के युद्ध में पूर्वी बंगाल को भारत ने जीत लिया और इसे एक अलग देश बांग्लादेश के रूप में आजाद कर दिया 

1972 के युद्ध में जीत के बाद इन्दिरा गाँधी ने बांग्लादेश का विलय भारत में क्यों नहीं किया ?

11. मध्य प्रदेश का नाम कैसे रखा गया ? ( Madhya Pradesh Names history in hindi )

मध्य प्रदेश का मतलब बीच में स्थित राज्य. आजादी से पहले भारत के ज्यादातर राज्य मध्य प्रदेश के अंतर्गत आते थे.1950 में सर्वप्रथम मध्य प्रांत और बरार को छत्तीसगढ़ और मकराइ रियासतों के साथ मिलकर मध्य प्रदेश का गठन किया गया था। तब इसकी राजधानी नागपुर में थी

12. उड़ीसा का नाम कैसे रखा गया ? ( Orissa Names history in hindi )

यह शब्द संस्कृत भाषा के 'ओडरा विषय' या 'ओडरा देश' से बना हुआ है. इसका अर्थ 'ओडरा लोग जो मध्य भारत में रहते है'.

13. छत्तीसगढ़ का नाम कैसे रखा गया ? ( Chhattisgarh Names history in hindi )

पहले के समय इस राज्य को दक्षिण कोसल के नाम से जाना जाता था इस नाम से सबंधित कोई भी साक्ष्य आज उपलब्ध नहीं है. इस राज्य में 36 किले है इसलिए इसको आज छत्तीसगढ़ के नाम से जाना जाता है. 

14. गुजरात का नाम कैसे रखा गया ? ( Gujarat Names history in hindi )

गुजरात शब्द गुजरा से बना हुआ है यहाँ पर 700 से 800 ईस्वी में गुज्जरों का शासन था इसलिए इसको गुज्जरों की भूमि कहा जाता है.

15. महाराष्ट्र का नाम कैसे रखा गया ? ( Maharashtra Names history in hindi )

इस राज्य का नाम कैसे पड़ा इससे जुड़े कई मत आज प्रचलित है जो इस प्रकार है -
  • महाराष्ट्र नाम संस्कृत भाषा से लिया गया है और यह दो शब्दों महा+राष्ट्र से बना हुआ है . जिसका अर्थ महा मतलब महान और राष्ट्र मतलब देश या प्रदेश. अथार्त जो प्रदेश महान है.
  • कुछ लोग यह मानते है कि राष्ट्र शब्द 'राठी' या 'रथ' से बना है जिसका अर्थ रथगाड़ी होता है.
  • राष्ट्रकूट नाम के एक वंश ने यहाँ 8वीं सदी से 10वीं सदी तक शासन किया था और बताया जाता है कि राष्ट्र शब्द 'रत्ता' से बना है 
  • अशोक के अभिलेखों के अनुसार इसकी उत्पति वंश से हुई है और इसको राष्ट्रिका कहा जाता है.

16. आंध्रप्रदेश का नाम कैसे रखा गया ? ( Andhra Pradesh Names history in hindi )

आंध्र शब्द कि भी उत्पति संस्कृत भाषा से हुई है जिसका अर्थ दक्षिण होता है. इस क्षेत्र में विशेष जनजातीयाँ निवास करती है और उनको 'आंध्र' के नाम से जाना जाता है.मोर्य काल में यह आंध्र भ्रुट्य के नाम से जाना जाता था जिसका अर्थ दक्षिण के नौकरशाह होता है . प्रदेश मतलब राज्य या प्रान्त होता है.

17. तेलंगाना का नाम कैसे रखा गया ? ( Telangana Names history in hindi )

तेलंगाना शब्द कि उत्पति ' त्रिलिंग ' से हुई है और इसका अर्थ शिव के तीन लिंग होता है.

18. गोआ का नाम कैसे रखा गया ? ( Goa Names history in hindi )

इस नाम से जुड़े फिलहाल कोई भी साक्ष्य नहीं मिलते है. इस नाम को संस्कृत भाषा से लिया गया माना जाता है और गो अर्थ गाय होता है. कुछ लोग गोवा शब्द को यूरोपीय या पुर्तगाली शब्द मानते है क्योंकि यहाँ भारत से पहले पुर्तगालियो का शासन हुआ करता था.

19. कर्नाटक का नाम कैसे रखा गया ? ( Karnataka Names history in hindi )

कर्नाटक शब्द कि उत्पति दो सब्दो से हुई है करू और नाद. करू का अर्थ गगनचुंबी और नाद का अर्थ भूमि होता है. कर्नाटक दक्कन के पठार का क्षेत्र है जो काफी ऊंचाई पर है. इसी से कर्नाटक शब्द बना था

20. तमिलनाडु का नाम कैसे रखा गया ? ( Tamil Nadu Names history in hindi )

तमिलनाडु भी दो शब्दों से बना हुआ है तमिल+नाडू . तमिल यहाँ रहने वाले तमिल समुदाय से लिया गया है जबकि नाडू का अर्थ जन्मभूमि होता है. इसी कारण तमिलनाडु को ' तमिलो का घर' भी कहा जाता है. इस क्षेत्र में सबसे अधिक तमिल समुदाय के लोग रहते है.

21.केरल का नाम कैसे रखा गया ? ( Kerala Names history in hindi )

इस नाम के साथ भी लोगो के कई जुड़े है वो इस प्रकार है -
  • कुछ लोग कहते है कि इस शब्द कि उत्पति 'चरना' से हुई है जिसका मतलब सकलित और आलम या भूमि होता है.
  • कुछ का मत है कि केरल शब्द "चेरा वंश" के शासको द्वारा दिया गया है जिन्होंने 1-5 इस्वी पूर्व यहाँ पर राज किया था. उन्होंने इसका चेरा आलम शब्द दिया था जो बाद में बदलकर केरलम हुआ. 
  • केरलम शब्द को संस्कृत भाषा का मानते है जिसका अर्थ ' एक जुडी हुई भूमि ' होता है.
  • भोगोलिक रूप से कहा जाता है कि केरल का क्षेत्र समुद्र से निकली अतिरिक्त भूमि है.

22. सिक्किम का नाम कैसे रखा गया ? ( Sikkim Name history in hindi )

सिक्किम शब्द कि उत्पति लिम्बू से हुई है. सिक्किम शब्द सू+खिम से बना हुआ है सू का अर्थ 'नया' होता है और 'खिम' का अर्थ विशाल भवन होता है. अथार्त नया विशाल भवन. सिक्किम को तिब्बती भाषा के लोग में 'डेजांग' के नाम से भी जानते है.

23.अरुणाचल प्रदेश का नाम कैसे रखा गया ? ( Arunachal Pradesh Name history in hindi )

अरुणाचल शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है - अरुण+आँचल. यहाँ अरुण का अर्थ सुबह कि ज्योति और आँचल का अर्थ पहाड़ होता है. अथार्त अरुणाचल का सही अर्थ सुबह कि ज्योति का पहाड़ होता है. क्योंकि सूर्य सबसे पहले निकलता हुआ यहीं पर दिखाई देता है.

24.असम का नाम कैसे रखा गया ? ( Assam Name history in hindi )

अहम शासको ने 6 सदियों तक असम पर राज किया था. और इन्ही शासको से असम नाम आया है. अहम् शब्द को इंडो-आर्यन शब्द असामा से उत्पन्न माना गया है जिसका अर्थ अनियमित होता है.

25. मेघालय का नाम कैसे रखा गया ? ( Meghalaya Name history in hindi )

मेघालय शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है मेघ+आलय. यहाँ मेघ का अर्थ बादल और आलय का अर्थ घर होता है. इस प्रकार मेघालय को बादलो का घर कहा जाता है.

26. मणिपुर का नाम कैसे रखा गया ? ( Manipur Name history in hindi )

यहाँ मणिया अधिक होने के कारण इसको मणिपुर कहा जाता है जिसका अर्थ मणियो का शहर होता है.

27.मिजोरम का नाम कैसे रखा गया ? ( Mizoram Name history in hindi )

यहाँ बहुत सी पहाड़ीया है और यहाँ रहने वाले लोगो को पहाड़ी लोग कहा जाता है. मिजोरम में 'मी' का अर्थ लोग तथा 'जो' का अर्थ पहाड़ के निवासी होता है.

28.नागालैंड का नाम कैसे रखा गया ? ( Nagaland Name history in hindi )

नागालैंड शब्द में नागा की उत्पत्ति बर्मा के एक शब्द नाका से हुई है. यहाँ पर एक विशेष प्रजाति के लोग रहते है जिनके नाक और कान छिदे हुए होते है इन लोगो को नागा कहते है. कई बार नागालैंड को नागाओं की भूमि भी कहा जाता है.

29.त्रिपुरा का नाम कैसे रखा गया ? ( Tripura Name history in hindi )

त्रिपुरा शब्द कि उत्पति तुइपारा से हुई है. तुईपारा में तुई का अर्थ पानी और पारा का अर्थ नजदीक होता है. कुछ लोगो का मत है कि इस क्षेत्र में त्रिपुर नामक राजा का शासन हुआ करता था इसी कारण इसको त्रिपुरा कहा जाने लगा.

No comments:

Post a Comment

माँ भारती का नया लेख अपने ईमेल में पाए

जिस ईमेल में आप माँ भारती का नया लेख पाना चाहते है वह नीचे बॉक्स में इंटर करे:

Delivered by माँ भारती