माँ भारती

Maabharati: A Hindi knowledge Sharing website, Legends of Mahatmas, Technologies, Health, Today History, Successful People's stories and other information. Former- life137.com

Breaking

14 November 2019

कैसे बनता है रबर और रबर से जुड़े रोचक तथ्य

आज के समय में रबर हमारी सबसे बड़ी जरुरत बन गया है . आज हमारे चारो और पाई जाने वाली वस्तू  में रबर जरुर होता है . यहाँ तक की हमारे उपयोग में आने वाली वाहनों के टायर भी रबर से बनी होते है . इसलिए हम सभी रबर की अहमिहत को समझ सकते है . आज हम जानेगे कि रबर कैसे बनता है और रबर से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य -

रबर एक पेड़ से हमें प्राप्त होता है . इस पेड़ का नाम " हेविया ब्रेंसीलियेसिस "है .रबर इस पेड़ के तने में भरा होता है जिसे चीरा लगाकर लेटेक्स के रूप में प्राप्त किया जाता है  . इस पेड़ से प्राप्त रबर को प्राकृतिक रबर ( natural rubber ) कहा जाता है . इसको हमारे लिए उपयोगी कैसे बनया जाता है इसके बारे में हम अंत में आपको बताएँगे .


आइये जानते है रबर के पेड़  बारे में ----

हेविया का पेड़ सबसे पहले दक्षिण अमेरिका की अमेजन घाटी में पाया गया था .  वर्तमान समय में रबर भारत , श्रीलंका , मलाया , इंडोनेशिया में पाया जाता है . भारत में यह केरल , कर्नाटक , व अंडमान में रबर की खेती होती है .

रबर का पेड़ बहुत विशाल होता है इसकी ऊंचाई 20 - 40 मीटर होती है और रबर का तना 2 से 3 मीटर चोडा होता है  और इसके तने में प्राकृतिक रबर भरा होता है . रबर के फल को कैप्सूल कहते है इसमें 2 से 3 बीज होते है आपको जानकर हेरानी होगी की जब रबर का फल फटता है तो इसका बीज 12 से 13 मीटर तक चला जाता है

रबर से जुड़े रोचक तथ्य 


  • पेंसिल के सिरे पर रबर लगाने का काम जोसेफ रेचेन ने किया था, जिससे लिखे हुए को मिटाने का काम आसान हो गया था. 1770 में एडवर्ड नैरने ने ब्रेड की जगह रबर का प्रयोग किया तब से रबर प्रयोग की जाने लगी

  • रबर के आविष्कार से पहले , पेन्सिल लिखे हुए को ब्रेड से मिटाया जाता था.
  • पेन्सिल में ग्रेफाइट होता है जब इसको कागज पर चलाया जाता है तो ग्रेफाइट के कण कागज से चिपक जाते है. रबर में ग्रेफाइट को अपनी तरफ खींचने की क्षमता होती है. इसी कारण जब हम पेन्सिल से लिखा हुआ रबर से साफ़ हो जाता है.
  • खीचे या तने हुए रबर में स्थितिज उर्जा निहित होती है.
  • गर्भ निरोधक कंडोम रबर का बना होता है.
  • 1944 में चार्ल्‍स गुडईयर ने क्रेंप रबर कंडोम का पहला पेटेंट प्राप्‍त किया था.
  • रबर के गुणों को जानने के लिए कई सालों तक प्रयोग करने वाले वैज्ञानिकों में अमेरिका के चार्ल्स गुडइयर का नाम प्रमुख है. इनका नाम आज भी रबर की वस्तुओ पर लिखा होता है.
  • संसार के समस्त रबड़  के उत्पादन का प्राय: 78 प्रतिशत गाड़ियों के टायरों और ट्यूबों के बनाने में किया जाता है.
  • वर्तमान में रबड़  से सड़के भी बनाई जाती है.

रबर को हमारे उपयोगी कैसे बनाया जाता है -

 प्राकृतिक रबर ( natural rubber ) लचीला नहीं होता और तेज धुप में यह टूट जाता है जो हमारे लिए उपयोगी नहीं होता है  इस लिए प्राकृतिक रबर ( natural rubber ) को हमारे लिए उपयोगी बनाने के लिए इसका वल्किनीकरण किया जाता है . सबसे पहले रबर ( natural rubber ) का वल्किनीकरण चार्ल्स गुडईयर ने किया था . इसलिए टायरो पर इनका नाम आज भी लिखा होता है .


रबर ( natural rubber ) के वल्किनीकरण में इसको सल्फर के साथ उच्च ताप व उच्च दाब से गुजारा जाता है . जिससे यह हमारे उपयोगी बन जाता है इसको कृतिम रबर कहा जाता है

दोस्तों आपकी प्यारी प्यारी कमेंट का इन्तजार रहेगा . अगर आपके मन में भी कोई सवाल है तो आप जरुर पूछे 

No comments:

Post a Comment

माँ भारती का नया लेख अपने ईमेल में पाए

जिस ईमेल में आप माँ भारती का नया लेख पाना चाहते है वह नीचे बॉक्स में इंटर करे:

Delivered by माँ भारती